उत्तर प्रदेश

हिंदुस्तान युनिलिवर लिमिटेड का मैनेजर बन व्यापारी को करोड़ा का चूना लगा फरार हुआ ठग! धर-पकड़ में जुटी नोएडा पुलिस

नोएडा पुलिस ने साइबर ठगी करने वाले आरोपी अभिनव भगेल के खिलाफ संदिग्ध 10 धाराओं में धोखाधड़ी का केस दर्ज कर, तलाश शुरु कर दी है। जोकि उत्तर प्रदेश के व्यापारी से साइबर ठगी कर करोड़ों का चुना लगाकर अब फरार हो चुका है।

नोएडा पुलिस ( Noida Police ) ने साइबर ठगी करने वाले आरोपी अभिनव बघेल ( Abhinav Baghel ) के खिलाफ संदिग्ध 10 धाराओं में धोखाधड़ी का केस दर्ज कर, तलाश शुरु कर दी है। जोकि उत्तर प्रदेश के व्यापारी से साइबर ठगी कर करोड़ों का चुना लगाकर अब फरार हो चुका है। आरोप यह भी है कि आरोपी ने लोगों को बड़ी-बड़ी कंपनियों में नौकरियां दिलवाने के नाम पर लाखों रुपए का दमन किया है। अभिवन बघेल के खिलाफ नोएडा सेक्टर-63, पुलिस थाना में धोखाधड़ी का केस दर्ज हुआ है। पिछले कई दिनों से पुलिस अभिवन भगेल और उसके दोस्त नीतीश कुमार की तलाश कर रही है, लेकिन दोनों ही पुलिस की गिरफ्त में नहीं आ रहे हैं।

हिंदुस्तान युनिलिवर लिमिटेड का मैनेजर बन की लाखों की ठगी –

पुलिस थाना, नोएडा सेक्टर 63 में आरोपी अभिनव बघेल के खिलाफ धारा 415/416, 420, 463, 464, 468, 470, 471, 472, 473 के साथ और जरुरी भारतीय दंड संहिता के अंतर्गत मामला दर्ज किया गया है। आरोपी अभिनव बघेल के पिता का नाम राम प्रकाश पाल है। आरोपी अभिनव भगेल खुद को हिंदुस्तान युनिलिवर लिमिटेड ( Hindustan Uniliver Limited ) का मैनेजर बताता था। और व्यापरियों को कंपनी का प्रोडक्ट डिस्ट्रीब्यूशन दिलवाने का लालच देकर करोड़ों रुपये खाता था। बता दें कि आरोपी और उसके पिता के नाम कुल तीन कंपनियां और हैं जिन्हे दिखाकर वह फर्जी दावे करता था।

साइबर ठग आरोपी अभिनव बघेल ने ऐसे लगाया करोड़ों का चुना –

उत्तर प्रदेश का जिला कासगंज के रहने वाले व्यापारी मनोज कुमार गुप्ता ( Manoj Kumar Gupta ) ने अभिनव भगेल के खिलाफ धोखाधड़ी की एफआईआर नोएडा सेक्टर 63 थाने में दर्ज करवाई है। व्यापारी मनोज का आरोप है कि अभिनव बघेल ने अपने दोस्त के साथ मिलकर तकरीबन 55 लाख तक की ठगी की है। मनोज ने बताया कि उसकी मुलाकात अभिनव से नोएडा में किसी काम के सिलसिले में हुई थी। जहां अभिनव ने मनोज को देश के प्रसिद्ध कंपनी हिंदुस्तान युनिलिवर लिमिटेड से प्रोडक्ट ‘डिस्ट्रीब्यूशन’ का काम दिलवाने की बात कही। व्यापारी मनोज, आरोपी अभिनव के झासे में आ गया। अभिनव ने खुद को कंपनी का करीबी बताया और कहा कि काम हो जाएगा लेकिन उसके लिए करोड़ों रुपये खर्च करने होंगे।

Uttar Pradesh Deputy CM Name: इन 4 चेहरों मे से 3 होंगे यूपी के नए डिप्टी सीएम

फर्जी स्टैम्प, फर्जी कागज दिखाकर ऐसे लगाया चुना –

हिंदुस्तान युनिलिवर लिमिटेड भारत देश की जानी-मानी कंपनी है। इस कंपनी का ‘डिस्ट्रीब्यूशन’ का काम मिलना किसी भी व्यापारी के लिए बड़ी बात है। और इसके लिए करोड़ा रुपयों की लगात को लगाना मनोज कुमार गुप्ता को सही लगा। उन्होने फैसला किया कि वह हिंदुस्तान युनिलिवर लिमिटेड का ‘डिस्ट्रीब्यूशन’ लेने के लिए आरोपी अभिनव बघेल के साथ सौदा करेंगे। इसके लिए मनोज कुमार ने जरुरी कंपनी के कागजात, स्टैंप के साथ अपनी ईमेल आईडी पर मंगवाएं। यहां आरोपी साइबर ठग अभिनव भगेल ने हूबहू कागजात हिंदुस्तान युनिलिवर लिमिटेड के फर्जी स्टैंप के साथ, हिंदुस्तान युनिलिवर लिमिटेड की फर्जी ईमेलआईडी से व्यापारी मनोज गुप्ता को भेज दिया। फर्जी पेपर, फर्जी ईमेलआईडी को असली समझकर व्यापारी मनोज गुप्ता ने हिंदुस्तान युनिलिवर लिमिटेड के ‘डिस्ट्रीब्यूशन’ काम को लेने के लिए अभिनव बघेल को पैसा भेजना शुरु किया। अभिवन ने इस नाम पर करोड़ों रुपए खुद लिए और करोड़ों अपने दोस्त नीतीश कुमार के बैंक अकाउंट में डलवाए।

Cyber Crime Accused Abhinav Bhagel Noida Sector 63 Police Documents
Photo Source: Manoj Kumar Gupta

Pragati Maidan Tunnel: डिजिटल कंट्रोल रूम, 100 CCTV कैमरे और जर्मन पंखों से लैस दिल्ली की हाईटेक Tunnel रविवार से आम लोगों के लिए होगी चालू

अभिनव बघेल और उसके दोस्त हो गए फरार –

आरोपी अभिनव बघेल और उसका दोस्त करोड़ों का चुना लगाने के बाद एक दिन अचानक से गायब हो गए। व्यापारी मनोज कुमार गुप्ता ने कई प्रयास किया की अभिनव से उसकी बात हो सके लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला। जिसके बाद व्यापारी मोनज कुमार गुप्ता ने परेशान होकर नोएडा पुलिस थाना में जाकर अपनी शिकायत दर्ज करवाई। शिकायत मिलते ही पुलिस एक्शन में है। पुलिस अब धोखा-धड़ी करने वाले आरोपी बघेल और उसके दोस्त नीतीश कुमार की तलाश कर रही है।

close
Janta Connect

Subscribe Us To Get News Updates!

We’ll never send you spam or share your email address.
Find out more in our Privacy Policy.

और पढ़े

संबधित खबरें

Back to top button