ऑटो

Mumbai में नहीं बल्कि इस शहर में हैं देश का सबसे बड़ा EV Charging Station, जानें खासियत

गुरुग्राम के सेक्टर 52 में स्थित इस स्टेशन (EV Charging Station) को Alektrify Private Limited ने डेवलप किया है. यह ईवी (EV) चार्जिंग स्टेशन न केवल क्षेत्र में इलेक्ट्रिक वाहन उद्योग को बढ़ावा देगा, बल्कि भविष्य में देश भर में बड़े ईवी चार्जिंग स्टेशनों के लिए एक बेंचमार्क भी सेट करेगा।

EV Charging Station: इंडिया में इलेक्ट्रिक व्हीकल का बोल बाला बढ़ने लगा है. ई-साइकिल से इलेक्ट्रिक कार तक हर सेगमेंट में आपको इलेक्ट्रिक व्हीकल देखने को मिल जायेंगे। और इस बात का अंदाज़ा दिसंबर 2021 में EV खरीद में हुई 132 फीसदी ग्रोथ से लगाया जा सकता है की लोग किस तरह इलेक्ट्रिक में स्विच कर रहे हैं। लेकिन इलेक्ट्रिक व्हीकल के लिए इंडिया में इंफ्रा स्ट्रक्चर अभी भी एक बड़ी समस्या है।

चार्जिंग इंफ्रास्ट्रक्चर के लिए, सरकार पब्लिक चार्जिंग (EV Charging Station) नेटवर्क का विस्तार करने के लिए अलग-अलग प्लेयर्स के साथ साझेदारी कर रही है ताकि ईवी खरीदार रेंज की चिंता को छोड़ राइड आनंद ले सके. इसी कड़ी में शुक्रवार को देश में सबसे बड़े चार्जिंग स्टेशन की सौगात मिली है। यह चार्जिंग स्टेशन दिल्ली-जयपुर नेशनल हाइवे पर गुरुग्राम सेक्टर 52 में बनाया गया है. नए चार्जिंग स्टेशन में 100 से अधिक चार्जिंग प्वाइंट्स हैं, जिनके द्वारा एक साथ 100 व्हीकल्स को चार्ज किया जा सकता है. इससे पहले नवी मुंबई में बना 16 AC और 4 DC स्टेशन देश का बड़ा ईवी चार्जिंग स्टेशन माना जाता था। लेकिन अब ये दूसरे स्थान पर खिसक गया है।

इसी कड़ी में शुक्रवार को देश में सबसे बड़े चार्जिंग स्टेशन की सौगात मिली है। यह चार्जिंग स्टेशन दिल्ली-जयपुर नेशनल हाइवे पर गुरुग्राम सेक्टर 52 में बनाया गया है। नए चार्जिंग स्टेशन में 100 से अधिक चार्जिंग प्वाइंट्स हैं, जिनके द्वारा एक साथ 100 व्हीकल्स को चार्ज किया जा सकता है। इससे पहले नवी मुंबई में बना 16 AC और 4 DC स्टेशन देश का बड़ा ईवी चार्जिंग स्टेशन माना जाता था। लेकिन अब ये दूसरे स्थान पर खिसक गया है।

फिलहाल, इस समय चार्जिंग स्टेशन में 96 चार्जर काम कर रहे हैं। ऐसे में यह स्टेशन एक साथ 96 इलेक्ट्रिक कारों को फिलहाल के लिए चार्ज कर सकता है। चार अन्य चार्जिंग प्वाइंट्स जल्द ही तैयार हो जाएंगे, जिसके बाद यहां एक साथ 100 व्हीकल्स चार्ज किए जा सकेंगे। यही नहीं इस स्टेशन पर लगे AC और DC फास्ट चार्जिंग से एक दिन में 576 वाहनों को चार्ज किया जा सकता है।

इज ऑफ डूइंग बिजनेस कार्यक्रम में भारत के सबसे बड़े चार्जिंग स्टेशन की शुरुआत ई-हाईवे के तकनीकी पायलट नेशनल हाईवे फॉर इलेक्ट्रिक व्हीकल के अंतर्गत हुई है. ऊर्जा मंत्रालय ने जनवरी 2022 में संशोधित दिशा-निर्देश और मानक जारी किए थे, जिन पर खरा उतरने वाला ये अब तक का पहला बड़ा चार्जिंग स्टेशन होने वाला है।

गुरुग्राम के सेक्टर 52 में स्थित इस स्टेशन (EV Charging Station) को Alektrify Private Limited ने डेवलप किया है. यह ईवी (EV) चार्जिंग स्टेशन न केवल क्षेत्र में इलेक्ट्रिक वाहन उद्योग को बढ़ावा देगा, बल्कि भविष्य में देश भर में बड़े ईवी चार्जिंग स्टेशनों के लिए एक बेंचमार्क भी सेट करेगा।

Komaki Venice: प्रीमियम इलेक्ट्रिक स्कूटर भारत में लॉन्च, म्यूजिक सिस्टम के साथ मिलेंगे ये फीचर्स

कार्यक्रम के दौरान इज ऑफ डूइंग बिजनेस कार्यक्रम निदेशक और अतिरिक्त प्रभार में एन.एच.ई.वी. परियोजना निदेशक अभिजीत सिन्हा ने बताया कि, “भारत इलेक्ट्रिक आवागमन की आधारभूत संरचना और इंफ्रा में होने वाले निवेश को पेट्रोलियम यातायात से होने वाले आय के ऊपर प्राथमिकता देने के दौर में पहुंचने वाला है। एन.एच.ई.वी. जैसी पायलट परियोजनाओं ने लाइसेंस, निर्माण, संस्थापन, प्रतिष्ठापन, विद्दियुतीकरण और मानकों के प्रमाणन व अनुपालन में सुगमता की सेवा दे कर निवेशकों के लिए चार्जिंग स्टेशनों को पेट्रोल पंप का प्रतिद्वंदी बना दिया है।

Shweta Tiwari ने कहा- मांफी मांगती हूं, आपने जो सुना वो गलत है!

इतने बड़े और व्यापक स्तर के चार्जिंग स्टेशन देश में अब तक नहीं बने थे और ये स्टेशन प्रमाणन अनुपालन (Certification Compliance) एवं सुरक्षा अनुदेश मानकों (Safety Standards) में आज उद्योग जगत के लिए इज ऑफ डूइंग बिजनेस का उदाहरण है। इलेक्ट्रिक वाहन हमारा भविष्य है और ये प्रारूप स्टेशन उस भविष्य के लिए हमारी तैयारी। इस आधुनिक स्टेशन को आज सभी मानकों के परिक्षण के लिए खोला जा रहा है ताकि जयपुर-दिल्ली- आगरा पर पायलट परियोजना में बनने वाले एन.एच.ई.वी. स्टेशनों को विश्वस्तरीय और बेहतरीन बनाया जा सके।”

RRB NTPC Protest बिहार के छात्रों का गुस्सा देख सुशील मोदी ने जोड़े हाथ!

close
Janta Connect

Subscribe Us To Get News Updates!

We’ll never send you spam or share your email address.
Find out more in our Privacy Policy.

और पढ़े

संबधित खबरें

Back to top button