लाइफस्टाइल

आप भी हैं दही-चीनी खाने के शौखीन तो जानें क्या न खाएं दही के साथ, जानें इससे होने वाले फायदे और नुकसान

दही-चीनी हमारे शरीर के लिए काफी सेहतमंद होता है। दही-चीनी खाने जितना स्वादिष्ट होता है उतना ही फायदेमंद भी साबित होता है। यहां जानें दही और किस चीज के साथ खाये और किसके साथ नहीं।

नई दिल्ली: दही और चीनी को हमारे भारत में काफी शुभ माना जाता है। किसी भी शुभ काम करने से पहले जैसे परीक्षा से पहले या इंटरव्यू से पहले दही और चीनी का सेवन जरूर करते हैं। लेकिन, क्या आपको पता है दही और चीनी खाने की असली वजह। दही और चीनी हमारे शरीर को कैल्शियम और प्रोटीन देता है। ऐसे में हम आपको बताएंगे दही और चीनी खाने के फायदे और नुकसान।

डाइटीशियन एक्सपर्ट्स के अनुसार, हमारे देश में कोई भी शुभ काम के लिए घर से निकलने से पहले दही-चीनी खाने की परंपरा सालों से चलती आ रही है। इसे सिर्फ रिवाज ना कहे इसके पीछे वैज्ञानिक महत्व भी छुपा हुआ है। आपको बता दें कि दही में प्रोटीन व कैल्शियम मौजूद होता है और चीनी हमारे दिमाग एलर्ट रखता है। दही-चीनी खाकर घर से निकलने पर शरीर थकान महसूस नहीं करता और आपका दिमाग भी सही फोकस पर रहता है। दही चीनी आपको स्थिर रखता है। जिससे आप अपना काम सही तरीके से कर सके।

आपको बताते चले कि ब्लड प्रेशर और शुगर का लेवल लो हो जाने पर पर उस व्यक्ति को तुरंत मीठा खिलाया जाता है, ताकि उसका दिमाग तुरत एलर्ट मोड पर आ जाए। डॉक्टरों द्वारा भी तनाव, एंजाइटी होने पर भी मीठा खाने की सलाह दी जाती है। मीठे का सेवन करने से एंजाइटी कम होता हैं। मीठी चीजें को तुरंत खाना बंद नहीं करना चाहिए। शरीर को थोड़ा बहुत चीनी का सेवन तो रोजाना करना चाहिए। ताकि आपके दिमाग की एलर्टनेस सही तरीके से अपना काम करे। इसलिए तो, परीक्षा के समय भी बच्चों को मीठा खिलाया जाता है।

आखिर क्यों Vijay Joseph को कहते हैं साउथ इंडस्ट्री का ”थलापति’, कारण जान चौंक जायेंगे आप

लेकिन, इस बात की जानकारी जरूर रखें कि मीठे चीज के नाम पर चॉकलेट, मिठाई का सेवन अधिक ना करें। बल्कि बच्चों को गुड़ से बने मूंगफली, चना दाल, तिल के लड्डू खिलाना चाहिए। बच्चों की डाइट में सीजनल फ्रूट्स को भी जरूर ऐड करें। परीक्षा के समय बच्चों को चाय-कॉफी देने इंकार करें। क्यूंकि इससे बच्चों को परीक्षा से पहले एसिडिटी, गैस आदि की शिकायत का सामना करना पड़ सकत है। बताते चले कि बहुत से बच्चों को लैक्टोज इंटॉलरेंस की समस्या होती है यानी दूध या दूध से होने वाली एलर्जी। ऐसे बच्चों को भूल से भी दही-चीनी या दूध से बनी कोई चीज न दें। बात दें कि दही को प्याज, उड़द दाल, मछली आदि के साथ बिल्कुल न खाएं।

close
Janta Connect

Subscribe Us To Get News Updates!

We’ll never send you spam or share your email address.
Find out more in our Privacy Policy.

और पढ़े

संबधित खबरें

Back to top button