एजुकेशन

Book Review किताब The Monk Who Sold His Ferrari का हिंदी में

द मोंक व्हू सोल्ड हिस फेरारी ( The Monk Who Sold His Ferrari ) यह एक प्रेरणा दायक ( motivational ) और स्वयं सहायता ( self help ) कैटेगरी वाली किताब है। इस किताब के पब्लिसर हैं Harper Collins। तो वहीं इस किताब को लिखा है, फेमस self help कैटेगरी किताब लेखक Robin Sharma ने।

द मोंक व्हू सोल्ड हिस फेरारी ( The Monk Who Sold His Ferrari ) यह एक प्रेरणा दायक ( motivational ) और स्वयं सहायता ( self help ) कैटेगरी वाली किताब है। इस किताब के पब्लिसर हैं Harper Collins। तो वहीं इस किताब को लिखा है, फेमस self help कैटेगरी किताब लेखक Robin Sharma ने। जिनकी हाल ही में आई The 5am Club किताब ने तहलका मचा दिया था। बता दें कि इस किताब में कुल 13 चैप्टर हैं। जोकि ‘The Wake UP Call’ से शुरु होते हैं और ‘The Timeless Secret of Lifelong Happiness’ पर जाकर थम जाते हैं।

साल 1999 में पहली बार इस किताब को पब्लिस किया गया था। लेकिन 2013 में कुछ ऐसा हुआ जिससे यह किताब अचानक लाइम लाइट में आ गई। तब से लेकर अब तक यह किताब उतनी ही जरुरी है जितनी की पहले हुआ करती थी। आखिरकार क्या है ऐसा इस किताब में आईए देखते हैं।

14 साल बाद इस किताब को मिला लोगों का प्यार –

बात करें The Monk Who Sold His Ferrari की तो इस किताब ने लेखक के साथ ही कई लोगों की जिंदगी बदल दी। यह किताब पहली बार 21 अप्रैल 1999 में बाजार में आई थी। लेकिन तब इस किताब की तरफ लोगों ने ध्यान नहीं दिया और साल 2013 में यानी की 14 साल बाद एक ही साल के अंदर इसे 30 लाख लोगों ने खरीदा और उससे भी ज्यादा लोगों ने पढ़ा। मानों जैसे लोगों को किताब में कोई खजाना मिल गया हो।

यह किताब कर सकती है आपके अंदर बड़े बदलाव –

The Monk Who Sold His Ferrari में एक आम इंसान जोकि अपने जीवन के शिखर तक पहुंचना चाहता है, उसके लिए कई ऐसी आदतों और तरीकों का जिक्र किया गया है, जिसे जानने और सबसे महत्वपूर्ण अपनाने के बाद किसी की भी जिंदगी बदल सकती है। इस किताब को समझने की कोशिश ज्यादा करनी होगी।

सबसे ज्यादा प्रभावित करते हैं सिवाना के साधु –

इस किताब में सबसे ज्यादा प्रभावित किया ‘Sages of Sivana’ ने, जिनको लेकर इस किताब में बकायदा एक चैप्टर भी है। इतना ही नहीं हर एक लेसन के पीछे आपको कुछ इस तरह से देखने को मिलेगा जिससे आप ज्यादा फोकस कर पाएंगे और जो कुछ भी आप पढ़कर आए हैं उससे अच्छे तरीके से अपने दिमाग में बैठा सकेंगे।

इन दो पात्रों पर है किताब की कहानी –

इस किताब में दो पात्र जोकि सबसे महत्वपूर्ण हैं, वह हैं जूलियन मेंटल और उनका सबसे अच्छा दोस्त जॉन। जूलियन की कहानी को लेकर ही इस किताब को नाम दिया गया है। क्योंकि वह जूलियन ही है जोकि अपना हॉलिडे होम और लाल फेरारी बेचकर हिमालय की यात्रा पर चला जाता है। जहां उसकी मुलाकात होती है ‘Sages of Sivana’ से। और वहीं से शुरु होता है यह जानना कि आखिरकार जीवन को जीने का असली मकसद कहां है। यानी की जो मजा मिले है फकिरी में वह मजा कहां मिले है फेरारी में।

पहली बार किसी हिंदी भाषी उपन्यास ने रचा International Booker Prize में यह इतिहास

आप भी बन सकते हैं फेरारी वाला साधु –

किताब को पढ़ने के बाद आपके अंदर की जो आग है वह जरुर ही कहीं न कहीं जल जाती है। आप अपने अंदर ही अपना ‘Ultimate Purpose’ खोजने लगते हैं। लेकिन इस बार आपके पास वह सब तकनीक होती हैं जोकि इस किताब में ‘The Ancient Art of Leadership’ में आप पढ़ेंगे। उन तरीकों के साथ आपके लिए आसान हो जाएगा फेरारी वाला साधु बनना।

इन लोगों को पसंद आने वाली है यह किताब –

यह किताब ज्यादातर उन लोगों को पसंद आने वाली है जोकि एक लाइफस्टाइल से परेशान हो गए हैं और वह लोग जो जाना तो कहीं और चाहते हैं लेकिन उनकी राह उन्हे उस ओर लेकर नहीं जाती हुई नजर आ रही है। आप समझ रहे हैं न मैं किसकी बात कर रहा हूं।

आप भी बिना किसी देरी के ‘The Monk Who Sold His Ferrari’ किताब को ऑनलाइन या अपने नजदीकी बुक स्टोर पर जाकर खरीद सकते हैं। ताकि आप भी ले सकें जीवन के Ferrari का असली मजा।

close
Janta Connect

Subscribe Us To Get News Updates!

We’ll never send you spam or share your email address.
Find out more in our Privacy Policy.

और पढ़े

संबधित खबरें

Back to top button